Saturday, October 11, 2014

जीवन है नाम चुनौती का......

इंशान का जन्म मिला है तो, बाधाओं से मत घबराना।
जीवन है नाम चुनौती का, डरकर पीछे मत हट जाना।।
यूँ भी यह काय नश्वर है, श्वाँसों का मालिक ईश्वर है,
तुमको जो काम मिला जग में, प्रायोजक उसका भी रब है,
होगा या सफल नहीं होगा, इस चक्कर में ना पड जाना।
जीवन है नाम चुनौती का.......................... ।।
रिश्ते नाते धन संग सखा, केवल माया का बंधन है,
जन के प्रारब्ध समर्पण की, यह मामूली सी अड़चन है,
इन मिथ्या राग प्रपंचों में ही, उलझ कहीं मत रुक जाना।
जीवन है नाम चुनौती का.................................. ।।
हैं मतलब के दुनिया वाले, बे-वफ़ा हर एक अभिलाषा है,
मन वचन कर्म से पाक रहो, ईश्वर ही सच्ची आशा है,
परमेश्वर से यदि प्रेम किया, कुछ भी हो कैसा घबराना।
जीवन है नाम चुनौती का.………………………।।
क्या चाहत तुझको सता रही, क्यों मन में क्रोध हताशा है,
यह दुनियाँ है एक रंग मंच, तेरा अभिनय सत्य तमाशा है,
मन को रख शांत समझ खुद को, तेरी राह तुझे ही है चलना।
जीवन है नाम चुनौती का.……………………………।।
जब खाली हाथों आये थे, और छोड़ यहीं सब जाना है,
तो करो प्रतिज्ञा दुनिया के, किसी जीव को नहीं सताना है,
है अटल सत्य इस जीवन का, मिट्टी में एक दिन मिल जाना।
जीवन है नाम चुनौती का...........................................।।