Sunday, October 17, 2010

ॐ सांई गाओ

"जीवन को अपने पावन बना लो-२
ॐ सांई गाओ सांई नाम गुनगुना लो..
अनमोल जीवन को यूँ न खपाओ-२
बची हैं जो श्वासें उनको व्यर्थ ना गंवाओ...
हर श्वांस में-२ सांई नाम को बसा लो...
ॐ सांई गाओ..........................
मिला है ये मानव जन्म खुद को संभालो-२
ह्रदय लौ को अपनी पारब्रह्म में लगालो...
एक दिन मिलेंगे सांई-२ ह्रदय में बसा लो...
ॐ सांई गाओ.................................
नश्वर है दुनियां इससे मोह तुम छुड़ा लो-२
साश्वत प्रभु को अपने ह्रदय में बसा लो...
सांई की शरण में आकर-२ परम ज्ञान पा लो...
ॐ सांई गाओ...................................
एक दिन है जाना फिर क्यों देह को संभालो-२
प्राण छूटने से पहले आत्म ज्ञान पा लो....
पुनर्जन्म से अपने-२ आप को बचा लो....
ॐ सांई गाओ..............................
अब तक किये जो सारे पाप तुम मिटा लो-२
सांई नाम गंगा में गोते लगा लो.......
बाबा मुझे भी अपनी-२ शरण में बुला लो...
ॐ सांई गाओ..................................

1 comment:

Lata said...

बहुत सुन्दर, बधाई